दिल्ली: गौतम गंभीर का आरोप, बोले- झूठ फैलाने के लिए करोड़ों खर्च कर रही है दिल्ली सरकार

WhatsApp Image 2022-07-18 at 11.54.40 AM
Share

हाल ही में हुई बिजली शुल्क में बढ़ोतरी को लेकर अरविंद केजरीवाल की बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने आलोचना की है. गंभीर ने शनिवार को कहा कि पिछले आठ सालों में दिल्ली के लोगों को सिर्फ दुष्प्रचार का शिकार होना पड़ा है. पूर्वी दिल्ली से लोकसभा सदस्य, गंभीर ने उल्लेख किया कि मुख्यमंत्री बनने से पहले, केजरीवाल और उनके सहयोगियों ने दावा किया था कि पद संभालने के बाद, वे सिस्टम को साफ कर देंगे, जिसके परिणामस्वरूप सरकारी खजाने के लिए बड़ी बचत होगी.दिल्ली के लोग सिर्फ प्रचार देख रहे
गौतम गंभीर ने आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने दावा किया था कि स्वच्छ शासन और प्रशासन के साथ, बिजली की कीमतों में भारी कमी आएगी. हालांकि, पिछले 8 वर्षों में, दिल्ली के लोग सिर्फ प्रचार ही देख रहे हैं. क्रिकेटर से राजनेता बने गंभीर ने कहा कि बिजली की खपत करने वाले 58 लाख घरों में से केवल आधे (लगभग 30 लाख) 200 यूनिट से कम का उपयोग करते हैं, जो सीधे बिजली वितरण कंपनियों द्वारा चार्ज नहीं किया जाता है. उन्होंने कहा, “अन्य 16 लाख लोग 800 रुपये तक की सब्सिडी का लाभ उठाते हैं. इसलिए, दिल्ली में 11 लाख परिवारों को 10 रुपये प्रति यूनिट की दर से बिजली का भुगतान करना पड़ता है, जो पूरे देश में सबसे अधिक है.”

कंपनियां हर साल 20 हजार करोड़ कमाती हैं
गौतम गंभीर ने शनिवार को एक साथ कई ट्वीट किए और केजरीवाल सरकार पर लोगों को लूटने का आरोप लगाया है. गौतम गंभीर ने ट्वीट कर कहा, “पिछले 7 सालों में बिजली कंपनियों की कमाई में कोई कमी नहीं आयी. कंपनियां दिल्ली से हर साल 20 हजार करोड़ रुपए कमाती हैं. 20 हजार करोड़ में से 16 हजार करोड़ का भुगतान दिल्ली के 11 लाख परिवारों की कमर तोड़कर होता है, जो 10 रूपये यूनिट देते हैं, पूरे देश में सबसे ज्यादा!” उन्होंने आगे कहा, “बाकी 4 हजार करोड़ का भुगतान दिल्ली सरकार करती है. ये पैसा आम आदमी पार्टी अपने फंड से नहीं देती, दिल्ली के टैक्सपेयर देते हैं. पिछले 7 सालों में सब्सिडी के नाम पर दिल्ली सरकार ने गरीब जनता के 28 हजार करोड़ कंपनियों को दिए हैं.”

विज्ञापन बजट में 4200 प्रतिशत की बढ़ोतरी
गंभीर ने कहा, “बिजली मुफ्त है, के झूठ को फैलाने के लिए भी टैक्सपेयर के हजारों करोड़ विज्ञापनों पर खर्च किये जाते हैं. 2012 के मुकाबले 2022 तक दिल्ली सरकार के विज्ञापन बजट में 4200 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है.” उन्होंने ने कहा, “सच यही है की दिल्ली में भ्रष्टाचार कम नहीं हुआ है, टैक्सपेयर को फायदा नहीं हुआ. सिर्फ़ एक ठग गरीबों के स्कूल, अस्पताल, फ्लाईओवर का पैसा कुर्सी के लिए लुटा रहा है!” बीजेपी सांसद ने दिल्ली की जनता से सवाल पूछते हुए कहा, “मैं दिल्ली की जनता, खास तौर पर उन 11 लाख घरों से पूछना चाहता हूं, क्या आप दिन रात इसलिए मेहनत करते हैं, खून पसीना बहाते हैं ताकि एक ठग कुर्सी पर बैठा रहे?”…abplive

Leave a comment