मप्र: B.Tech स्टूडेंट का शव मिला, पिता को मैसेज आया- गुस्ताख-ए-नबी की एक ही सजा, सिर तन से जुदा

WhatsApp Image 2022-07-25 at 1.39.50 PM
Share

भोपाल-नर्मदापुरम रेलवे ट्रैक पर रविवार रात B.Tech स्टूडेंट का शव मिला है। घटनास्थल मिडघाट बरखेड़ा के पास उसकी स्कूटी और मोबाइल भी पुलिस को मिला है। इसी रात स्टूडेंट की इंस्टाग्राम ID से उसके पिता और दोस्तों के वाट्सऐप पर एक स्क्रीनशॉट आया। इस पर स्टूडेंट की फोटो है। इस फोटो पर लिखा- गुस्ताख-ए-नबी की एक ही सजा, सिर तन से जुदा…। इसे लेकर कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं।

टीटी नगर TI चैन सिंह रघुवंशी ने बताया, मूलत: सिवनी मालवा निवासी निशांक राठौर (20) पुत्र उमाशंकर राठौर भोपाल के ओरियंटल कॉलेज में B.Tech 5th सेमेस्टर का स्टूडेंट था। प्रारंभिक जांच में मामला सुसाइड का लग रहा है। छात्र के बारे में जानकारी मिली कि वह शेयर बाजार में निवेश करता था। आशंका है कि उसे घाटा लगा होगा और तनाव में आ गया होगा। हालांकि, अभी पीएम रिपोर्ट समेत अन्य तथ्यों की जानकारी जुटाने के बाद ही उसकी मौत की वजह का खुलासा हो सकेगा। हम हर पहलुओं से जांच कर रहे हैं।

सुसाइड नोट नहीं मिला

मैसेज मिलते ही उसके दोस्त टीटी नगर थाने पहुंचे। इस बीच, रायसेन पुलिस से स्टूडेंट का शव मिलने की सूचना मिली। कोई सुसाइड नोट नहीं मिला। पुलिस इस बात का पता लगा रही है कि स्टूडेंट की मौत के बाद उसका मोबाइल कौन ऑपरेट कर रहा था। छात्र दो बहनों में इकलौता भाई था। मृतक के दोस्तों ने बताया कि छात्र के मोबाइल, इंस्टाग्राम, फेसबुक ID की जानकारी उसके एक दोस्त प्रखर को थी। पुलिस प्रखर से पूछताछ कर रही है। पुलिस इसे सुसाइड मान रही है।

निशांक ने अपनी फेसबुक प्रोफाइल में खुद को नोएडा में सॉफ्टवेयर डेवलपर बताया है। पुलिस के मुताबिक, निशांक दो साल तक इंद्रपुरी में हॉस्टल में रहा। हाल ही में हॉस्टल छोड़कर जवाहर चौक शास्त्री नगर में दोस्तों के साथ रूम शेयर कर रह रहा था।

बहन से मिलने निकला था

निशांक रविवार दोपहर तीन बजे भोपाल के साकेत नगर परीक्षा केंद्र में एग्जाम देने आई बड़ी बहन से मिलने निकला था। यह बात उसने अपने चचेरे भाई शशांक को बताई थी। रात 8 बजे उसके पिता और दोस्तों के पास उसके मोबाइल से उसका फोटो लगा मैसेज आया। मैसेज पढ़कर घबराए पिता ने बेटे के दोस्तों को फोन किया। दोस्त राज, चचेरे भाई शशांक ने टीटी नगर थाने पहुंचकर उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई। तब तक रायसेन पुलिस उसका शव बरखेड़ा इलाके के रेलवे ट्रैक से बरामद कर चुकी थी। निशांक के पिता उमाशंकर राठौर हरदा में सहकारिता विभाग में पदस्थ हैं। घटना की जानकारी लगने के बाद देर रात वह भी बरखेड़ा पुलिस चौकी पहुंचे। बेटे का शव देखने के बाद उनकी तबीयत बिगड़ गई।

CCTV में अकेला जाता दिखा, रास्ते में पेट्रोल भराया
पुलिस ने भोपाल से रायसेन के बीच के CCTV फुटेज खंगाले। निशांक अकेले ही स्कूटी से जाते हुए दिख रहा है। पुलिस ने मंडीदीप तक के फुटेज चेक किए, जिसमें वह अकेला ही दिखा। टीटी नगर TI चैन सिंह रघुवंशी ने बताया कि रास्ते में उसने 450 रुपए का एक पेट्रोल भराया, तब भी वह अकेला था।

तीन बजे के बाद फोन रिसीव करना किया बंद
निशांक के चचेरे भाई शशांक ने बताया कि उसने अपने दोस्त राज से रविवार दोपहर 12 बजे फोन पर बात की थी। इसके बाद उसकी अपने पापा से बात हुई थी। शशांक का कहना कि देर शाम जब हम लोगों ने फोन लगाया तो रिसीव नहीं हुआ। यह सिलसिला देर रात तक चला। जब पता चला कि उसका शव रायसेन में मिला है, तब भी उसका फोन चालू था।

छात्र के नाम से भड़काऊ पोस्ट
छात्र के लापता होने को लेकर दो मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। एक में निशांक राठौर नाम के स्टेटस पर धार्मिक पोस्ट होना शेयर दिखा रहा। दूसरी पोस्ट में निशांक के लापता होने का मैसेज वायरल हो रहा। दैनिक भास्कर इन दोनों पोस्ट की पुष्टि नहीं करता।

IG, DIG, SP रात साढ़े 3 बजे तक जांच में जुटे रहे
नर्मदापुरम रेंज IG दीपिका सूरी, DIG जेएस राजपूत, SP विकास कुमार शहवाल बरखेड़ा पुलिस चौकी पहुंचे। वह रात करीब साढ़े तीन बजे तक घटना को लेकर जांच करते रहे। SP विकास कुमार ने बताया कि प्रारंभिक जांच में छात्र के नाम से बनी ID से एक पोस्ट होने की पुष्टि हुई है। सोमवार को छात्र का पीएम होगा। पुलिस घटना को लेकर रीक्रिएशन भी कराएगी।

480 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से किराए पर ली स्कूटी
रायसेन की बरखेड़ा पुलिस चौकी पहुंचे निशांक के परिजन ने बताया कि वह गाड़ी चलाने का बहुत शौकीन था। ऐसे में पिता ने गाड़ी घर में रखवा दी थी। शौक पूरा करने के लिए वह भोपाल में 480 रुपए की हर रोज किराए पर गाड़ी लेता था। इसकी जानकारी उसके पिता को नहीं थी।…..bhaskar

Leave a comment